UP Mukhyamantri Saksham Suposhan Yojana 2021: मुख्यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना क्या है, पढ़ें पूरी जानकारी

UP Mukhyamantri Saksham Suposhan Yojana 2021: उत्तरप्रदेश की सरकार द्वारा हर वर्ग के लिए ख़ास योजनाओं संचालन किया जाता है। किसानों को आर्थिक लाभ देने के साथ ही महिलाओं को आर्थिक और शारीरिक रूप से सशक्त बनाने और बच्चों को अच्छी शिक्षा देने की दिशा में भी उत्तर प्रदेश सरकार निरंतर प्रयास कर रही है। लेकिन प्रदेश में पोषक तत्वों की कमी की वजह से हो रही बच्चों की मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। कुपोषण की वजह से हर वर्ष उत्तरप्रदेश में 3 लाख से भी ज्यादा बच्चों की मौत होती है। यह संख्या हैरान करने वाली है। इस आंकड़े को कम करने की कोशिश में योगी सरकार ने नई (UP New Yojana 2021) मुख्यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना का ऐलान किया। कुपोषित बच्चों के हित में यह योजना शुरू की गई है। मुख्यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना क्या है, इसके क्या उद्देश्य हैं?

Contents:

UP Mukhyamantri Saksham Suposhan Scheme 2021 | मुख्यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना क्या है | Objectives | Benefits | Detail in Hindi

UP Mukhyamantri Saksham Suposhan Yojana 2021 Detail

योजना का नाममुख्यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना
राज्यउत्तर प्रदेश
शुरुआत2021
लाभकुपोषण की कमी को दूर करना
लाभार्थी राज्य के कुपोषित बच्चे
अधिकारिक वेबसाइट (Official website)कोई जानकारी नहीं

मुख्यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना

UP Mukhyamantri Saksham Suposhan Yojana: बजट 2021-22 के दौरान उत्तरप्रदेश सरकार द्वारा वर्ष 2021 में मुख्यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना की घोषणा की गई थी। योजना के माध्यम से कुपोषित बच्चों और एनीमिया ग्रस्त किशोरियों को अधिक पोषण प्रदान किया जाता है। स्कीम को संचालित करने हेतु राज्य सरकार द्वारा 100 करोड़ का बजट निर्धारित किया गया है।

मुख्यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना उद्देश्य

Mukhyamantri Saksham Suposhan Scheme Objectives: उत्तरप्रदेश के अधिकांश क्षेत्र में कुपोषित बच्चों की संख्या ज्यादा है अलीगढ़ जनपद, हाथरस जनपद में अतिकुपोषित और कुपोषित बच्चे ज्यादा हैं। मुख्यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना के द्वारा ऐसे ही बच्चों को सेहतमंद बनाने के लिए अधिक पोषण प्रदान किया जाता है। यही इस योजना का उद्देश्य भी है। इस ख़ास योजना को शुरू कर सरकार का लक्ष्य प्रदेश से कुपोषण को ख़त्म करना है।

मुख्यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना के लाभ

  • मुख्यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना के अंतर्गत ड्राई राशन का वितरण किया जाएगा।
  • आंगनबाड़ी केंद्रों की सहायता से चिन्हित कुपोषित बालक-बालिकाओं तक सुपोषित आहार वितरण किया जावेगा।
  • आंगनबाड़ी में पंजीकृत 6 माह से 5 वर्ष तक के चिन्हित कुपोषित बच्चों एवं एनीमिया ग्रस्त 11-14 वर्ष की स्कूल न जाने वाली किशोरी बालिकाओं को अतिरिक्त पोषण प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के लिए उत्तर प्रदेश सरकार 100 करोड़ रुपए खर्च करेगी।
  • इस योजना के माध्यम से लाखों बच्चों को लाभान्वित किया जाएगा।

कुपोषण से उत्तर प्रदेश की जंग

लम्बे समय से उत्तरप्रदेश कुपोषण से जंग लड़ रहा है। इसे ख़त्म करने हेतु राज्य सरकार हर संभव प्रयास कर रही है। राज्य में कुपोषण को ख़त्म करने हेतु पोषण मिशन अभियान का संचालन भी किया जा रहा है। जिसके अंतर्गत जिले और स्वास्थ्य विभाग के अफसर चिन्हित कुपोषित ग्राम को देखरेख हेतु गोद लेते हैं। कुपोषित बच्चों और गर्भवती महिलाओं के लिए पोषक से भरपूर आहार उपलब्ध करवाते हैं।

योजना से जुड़े प्रश्न-उत्तर- (FAQ)

मुख्यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना कौन से राज्य से सम्बंधित?

-उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना को प्रारंभ किया गया है।

मुख्यमंत्री सक्षम योजना किस वर्ष में शुरू हुई थी?

– वर्ष 2021 में बजट 2021-22 के दौरान मुख्यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना की घोषणा की गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*