Ek Thali Ek Tarkari Yojana: उत्तरप्रदेश की किसान योजना से जुड़े लाभ एवं उद्देश्य

Ek Thali Ek Tarkari Yojana 2021: किसान की आय को दोगुना करने के लक्ष्य में केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा कई बड़े निर्णय लिए गए हैं, जो अब तक कारगर भी साबित हुए हैं।  किसान के हित में कई सरकारी योजनाओं का शुभारंभ किया गया है।  इन योजनाओं के माध्यम से किसानों की आय को बढ़ाया जा रहा है, इसी कोशिश में उत्तर प्रदेश की सरकार द्वारा  ख़ास किसानों के लिए एक थाली एक तरकारी योजना (UP Kisan Yojana) का शुभारंभ किया गया है।  एक थाली एक तरकारी योजना क्या है, आइए इस योजना से जुड़े लाभ एवं उद्देश्य से जुडी अन्य जानकारियों के बारे में जानते हैं।

Ek Thali Ek Tarkari Yojana 2021 Detail in Hindi

योजना का नामएक थाली एक तरकारी योजना
राज्यउत्तर प्रदेश
शुरुआत2021
लाभगरीब किसानों को मुफ्त सब्जी के पौधे और बीज उपलब्ध करवाना
लाभार्थी बीपीएल धारक सभी किसान
अधिकारिक वेबसाइट (Official website)जानकारी नहीं है

एक थाली एक तरकारी योजना क्या है? (Ek Thali Ek Tarkari Yojana 2021)

वर्ष 2021 में उत्तर प्रदेश सरकार ने एक थाली एक तरकारी योजना को प्रारंभ किया था। बुंदेलखंड क्षेत्र के किसानों हेतु इस योजना को तैयार किया गया है।  Ek Thali Ek Tarkari Yojana 2021 के अंतर्गत किसानों को पौष्टिक सब्जी उगाने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा, जिससे शहर के लोगों को ताजा और कम दाम में सब्जी उपलब्ध हो सके। योजना के तहत बीपीएल धारक किसानों को मुफ्त बीज और पौधे दिए जाएंगे। इससे किसानों की आय में भी वृद्धि होगी। योजना की मदद से सरकार राज्य के बुंदेलखंड क्षेत्र को हरी सब्जी का बड़ा हब बनाना चाहती है।

उत्तर प्रदेश एक थाली एक तरकारी योजना का उद्देश्य

सब्जी की फसलों में नुकसान होने के कारण बुंदेलखंड क्षेत्र के किसानों ने सब्जी की खेती करना बंद कर दिया है। वे सब्जी की खेती को अब जोखिम भरा समझ रहे हैं। किसानों के इसके विकल्प में गेहूं/दलहन और अन्य परंपरागत फसलों को बोना शुरू कर दिया है, जिस वजह से क्षेत्र में सब्जी की खेती में कमी आ रही है। शहरवासियों के लिए सब्जी की पूर्ति के लिए बाहर से ऊँचे दाम में सब्जियां लेकर आना पड़ रहा है।  एक थाली एक तरकारी योजना के माध्यम से उत्तर प्रदेश सरकार किसानों को सब्जी की खेती करने के लिए प्रोत्साहित करेगी, जिससे शहरवासियों को अच्छी सब्जी मिल पाए और इससे किसान की आय में भी बढ़ोतरी होगी।

योजना का लाभ

  • एक थाली एक तरकारी योजना (Ek Thali Ek Tarkari Yojana 2021) के तहत बीपीएल परिवार के अंतर्गत आने वाले किसानों को निशुल्क सब्जी के पौधे और बीज दिए जायेंगे।
  • सही खेली के लिए किसानों को प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।    
  • समय-समय पर विशेषज्ञों द्वारा किसानों को सलह भी दी जाएगी।  
  • घर की छत और आँगन में भी सब्जी की फसलों को उगाने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।
  • बुंदेलखंड क्षेत्र में खेती बढ़ने से शहर के लोगों को ताजा और पौष्टिक सब्जियां मिलेंगी।  
  • किसानों की आय में वृद्धि होगी।

यह भी पढ़ें:- उत्तरप्रदेश सक्षम सुपोषण योजना की पूरी जानकारी

उत्तर प्रदेश सरकार की अन्य महत्वपूर्ण योजनाएं

उत्तर प्रदेश किसान उदय योजना

उत्तर प्रदेश के किसानों को ध्यान में रखते हुए अन्य योजनाएं भी चलाई जाती है, जिनमें से एक किसान उदय योजना है। ख़ास किसानों के लिए शुरू की गई इस योजना के माध्यम से किसानों को सिंचाई हेतु पंप सेट दिए जाते हैं। जिसकी मदद से किसान आसानी से खेती कर अच्छी कमाई कर सकता है। किसान उदय योजना के अंतर्गत सरकार किसानों के वर्तमान सिंचाई पंप सेट को बिना कोई रुपए लिए 5 और 7.5 बीएचपी क्षमता वाले पंप से बदल रही है। सरकार द्वारा स्थापित किए जाने वाले पंप एनर्जी एफिशिएंट हैं, जिसके इस्तेमाल से बिजली के बिलों में 35% तक की कमी आ जाएगी। वर्ष 2017 में पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के जन्मदिवस के अवसर पर किसान उदय योजना की शुरुआत की गई थी। सरकार ने वर्ष 2022 तक 10 लाख किसानों को मुफ्त सिंचाई पंप देने का लक्ष्य रखा है। योजना के माध्यम से स्थापित किए गए सभी पंपों का रखरखाव का खर्च 5 वर्षों तक सरकार द्वारा उठाया जाएगा।

उत्तरप्रदेश सरकार द्वारा बागपत से इस योजना का शुभारंभ किया गया था। इसके पहले चरण में उत्तरप्रदेश के गाजीपुर, गोरखपुर, वाराणसी, अम्बेडकरनगर, मथुरा और अलीगढ़ जिले को कवर किया गया था। योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को सिंचाई के लिए बेहतर पंप मुहैया करवाना है, जिससे की वे अच्छी तरह से अपने खेतों की सिंचाई कर अपनी फसल पैदावार को बढ़ा सकें। इससे किसानों की आय में भी इजाफा होगा। साथ ही विद्धुत उर्जा की भी बचत होगी। सिर्फ उत्तर परदेश के किसान ही इस योजना का लाभ ले सकते हैं। जो भी किसान उदय योजना का लाभ लेना चाहता है, वह आवेदन प्रक्रिया को पूरा कर इस योजना का से जुड़ सकता है।

उत्तरप्रदेश गोपालक योजना

डेयरी को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार ने उत्तर प्रदेश गोपालक योजना को आरम्भ किया। इस योजना से राज्य सरकार बेरोजगारी को भी कम करने का प्रयास कर रही है। राज्य में बेरोजगार युवा इस योजना से जुड़कर डेयरी फार्म के द्वारा अपना रोजगार प्रारंभ कर सकते हैं। योजना के अंतर्गत पढ़े-लिखे युवा बैंक से ऋण ले सकते हैं।

उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कोशिश है कि राज्य के पढ़े-लिखे युवाओं को रोजगार मिले, जिससे देश और राज्य की तरक्की हो। इसी उद्देश्य से उत्तरप्रदेश में गोपालक योजना को शुरू किया गया है। इससे ज्यादा से ज्यादा युवा डेयरी खोलकर नए रोजगार को अपनाएंगे। इस योजना से जुड़ने के लिए कुछ नियाम व शर्ते हैं, जिसके आधार पर इस योजना का लाभ लिया जा सकता है। 10-20 दुधारू पशु रखने वाले ही गोपालक योजना का लाभ ले सकते हैं।

पशुओं की संख्या के आधार पर ही लोन दिया जाएगा। किसी भी बैंक से आपको आसानी से लोन दिया जाएगा। उत्तरप्रदेश के बेरोजगार युवा ही इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। आवेदन प्रक्रिया को पूर्ण कर इस योजना से जुड़ा जा सकता है। इस योजना के तहत उन्हीं लोगों का चयन किया जाता है, जिन्हें पशुपालन में दिलचस्पी है।

उत्तरप्रदेश आत्मनिर्भर कृषक समन्वित विकास योजना

किसानों की आर्थिक स्थित में सुधार लाने के लिए उत्तरप्रदेश सरकार ने आत्मनिर्भर कृषक समन्वित विकास योजना को शुरू किया था। योजना के माध्यम से राज्य में अधिक उत्पादक फसलों को बढ़ावा दिया जाएगा। कृषि को नई तकनीक से जोड़ा जाएगा और किसानों को इसके बारे में विस्तृत जानकारी दी जाएगी। वर्ष 2021 में उत्तरप्रदेश सरकार द्वारा बजट जारी किया गया था, इस बजट में वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना द्वारा आत्मनिर्भर कृषक समन्वित विकास योजना के लिए 100 करोड़ रुपए आवंटित किए थे।

उत्तरप्रदेश आत्मनिर्भर कृषक समन्वित विकास योजना का उद्देश्य राज्य के किसानों को बेहतर कृषि हेतु आर्थिक सहायता देना है। उनकी हर आर्थिक समस्या को दूर किया जाएगा जिससे वे अच्छी तरह से कृषि कर सकें। योजना में नई तकनीक, मूल्य संवर्धन, ब्लॉक स्तर पर कृषक उत्पादन संगठनों की स्थापना, निवेश प्रोत्साहन और बेहतर मार्केटिंग जैसे लाभ भी शामिल होंगे। Atma Nirbhar Krishak Samanvit Yojana UP का लाभ लेने के लिए किसान ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। उत्तरप्रदेश राज्य के किसान ही इस योजना का लाभ ले सकते हैं। फ़िलहाल इस योजना से सम्बंधित किसी भी प्रकार की आधिकारिक वेबसाईट को लॉन्च नहीं किया गया है। जैसे ही राज्य सरकार द्वारा इस योजना से सम्बंधित को वेबसाईट जारी होती है या फिर ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया प्रारंभ होती है तो आपको हमारे पोर्टल Kisan Suchna पर इसकी जानकारी जरूर दी जावेगी।

Kisan Suchna: Jai Jawan, Jai Kisan

1 Comment on “Ek Thali Ek Tarkari Yojana: उत्तरप्रदेश की किसान योजना से जुड़े लाभ एवं उद्देश्य

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*