Palanhar Yojana Rajasthan 2020-21 | Online Form Registration 2022 | Annual Renewal

Palanhar Yojana Rajasthan 2020-21 / 2022: देश में हर राज्य की सरकार अपने राज्य के अनाथ बालक बालिकाओं के लिए विभिन्न प्रकार की लाभकारी योजनाओं का संचालन करती हैं। राजस्थान सरकार भी अपने राज्य के अनाथ बच्चों के लिए एक ख़ास योजना को चलाती है। इस योजना का नाम पालनहार योजना है। अनाथ बच्चों के लिए यह योजना किसी वरदान से कम नहीं है। राजस्थान की इस योजना के माध्यम से अनाथ बच्चों के पालन-पोषण, शिक्षा, वस्‍त्र, भोजन जैसी जरूरतों को पूरा किया जाता है। पालनहार योजना क्या है, इस योजना के लाभार्थी को कितनी पेंशन मिलती है, आइए Palanhar Yojana Rajasthan 2020-21 के बारे में विस्तृत जानकारी जानते हैं।

Palanhar Yojana in Hindi | Palanhar Yojna Form Detail- Application Form Registration Apply Online 2022 | Annual Renewal | Documents | PDF file of Palanhar form download |

योजना का नामपालनहार योजना 2022
राज्यराजस्थान
योजना की शुरुआतवर्ष 2005
लाभअनाथ बच्चों हेतु आर्थिक मदद
लाभार्थी राज्य के सभी अनाथ बच्चे
अधिकारिक वेबसाइट (Official website)https://sje.rajasthan.gov.in/
Palanhar Yojana Rajasthan 2020-21 | Online  Form Registration

राजस्थान पालनहार योजना क्या है?

अनाथ व जरूरतमंद बच्चों सुविधाजनक जीवन देने हेतु राजस्थान सरकार द्वारा पालनहार योजना को 8 फरवरी 2005 को शुरू किया गया था। शुरुआत में इस योजना का लाभ सिर्फ अनुसूचित जाति के अनाथ बच्‍चों को ही दिया जाता था, लेकिन बाद में इसका संशोधन कर अन्य श्रेणी के बच्चों को भी सम्मिलित किया। अनाथ बच्चे, न्‍यायिक प्रक्रिया से मृत्‍यु दण्‍ड/ आजीवन कारावास प्राप्‍त माता-पिता की संतान, पुर्नविवाहित विधवा माता की संतान, कुष्‍ठ रोग से पीडित माता/पिता की संतान, विकलांग माता/पिता की संतान, जैसे अन्य श्रेणी के बच्चों को भी योजना का हिस्सा बनाया गया। योजना के माध्यम से इन बच्चों के पालन-पोषण, शिक्षा व अन्य जरूरतों को पूरा करने हेतु अनुदान उपलब्ध किया जाता है। बच्चों का सुविधा संस्‍थागत नहीं दी जाती, बल्कि बालक-बालिकाओं का पालन करने के इच्छुक रिश्‍तेदार को पालनहार बनाकर राज्य सरकार की तरफ से पारिवारिक माहौल में सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाती है।

पालनहार योजना का उद्देश्य

राजस्थान में कई ऐसे बच्चे हैं जिनके सिर पर किसी का हाथ नहीं है और वे अपना पालन-पोषण, शिक्षा व अपनी आजीविका को चलाने में सक्षम नहीं है। कई बार ये बच्चे बेहद कम उम्र में ही काम करना शुरू कर देते हैं और कई बच्चे ठीक तरह से पालन-पोषण का होने की वजह से गलत रास्ते पर चले जाते हैं। राज्य सरकार इन बच्चों के पालन-पोषण और इन्हें शिक्षित बनाकर समाज में इन्हें नई पहचान दिलाने में मदद करती है।

पालनाहार योजना पेंशन लाभ 2020

  • योजना के अंतर्गत अनाथ बच्चों की उम्र 5 वर्ष होने तक उन्हें पहले हर माह 500/- रुपए पेंशन के रूप में दिए जाते थे , लेकिन राजस्थान बजट 2022-23 में इसे बढ़ाकर 1500/- रुपए किया गया।
  • अनाथ बच्चे का स्कूल में दाखिला लेने से लेकर 18 वर्ष की आयु तक हर माह पालनहार परिवार को 1000/- रुपए दिए जाते थे, लेकिन अब इस लाभ को बढ़ाकर 2500/- रुपए कर दिया गया।
  • शिक्षा व पालन-पोषण के अलावा इन बच्चों को वस्‍त्र, जूते, स्‍वेटर आदि सामग्री के लिए अतिरिक्त 2000/- रुपए प्रतिवर्ष दिए जाते हैं। नोट: विधवा एवं नाता की श्रेणी को इस लाभ में सम्मिलित नहीं किया गया है।
  • योजना से जुड़े परिवार को हर वर्ष सदस्यता हेतु वार्षिक तौर पर रजिस्ट्रेशन करवाना अनिवार्य होता है।

पालनहार योजना पात्रता श्रेणी

  • अनाथ बच्‍चे
  • न्‍यायिक प्रक्रिया से मृत्‍यु दण्‍ड/ आजीवन कारावास प्राप्‍त माता-पिता की संतान
  • निराश्रित पेंशन की पात्र विधवा माता की अधिकतम तीन संताने
  • नाता जाने वाली माता की अधिकतम तीन संताने
  • पुर्नविवाहित विधवा माता की संतान
  • एड्स पीडित माता/पिता की संतान
  • कुष्‍ठ रोग से पीडित माता/पिता की संतान
  • विकलांग माता/पिता की संतान
  • तलाकशुदा/परित्‍यक्‍ता महिला की संतान

पालनहार योजना पात्रता 2-+022

  • सिर्फ राजस्थान में निवास करने वाला पालनहार परिवार ही इस योजना का लाभ लेने के पात्र होगा।
  • किसी भी श्रेणी के अंतरर्गत आने वाले पात्र परिवार की वार्षिक आय 1.20 लाख रूपये से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • योजना के पात्र बच्चों को 2 वर्ष की उम्र में आंगनबाड़ी केन्‍द्र भेजना अनिवार्य है।
  • 6 वर्ष की उम्र में बच्चों स्‍कूल भेजना अनिवार्य है।

Palanhar Yojana Documents 2022

  • अनाथ बच्चे का आधार कार्ड
  • पालनहार का आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • भामाशाह कार्ड
  • बालक-बालिका का आंगनबाड़ी केंद्र में पंजीकरण प्रमाण पत्र / स्कूल शिक्षा ग्रहण करने का प्रमाण-पत्र
  • पासपोर्ट आकर की फोटो
  • पहचान प्रमाण पत्र

Palanhar Application Form Registration- आवेदन प्रक्रिया

  • पालनहार योजना से जुड़ने हेतु सर्वप्रथम आपको इस योजना से सम्बंधित आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आधिकारिक वेबसाइट के होमपेज पर आपको आवेदन फॉर्म की पीडीएफ फाइल दिखाई देगी, जिसे आप आपनी डिवाइस में डाउनलोड कर सकते हैं।
  • आवेदन फॉर्म डाउनलोड हो जाने के बाद आप इसका प्रिंट निकलवा लें।
  • इस आवेदन फॉर्म में पूछी गई महत्वपूर्ण जानकारी जैसे नाम, पता, भरें।
  • ध्यानपूर्वकआवेदन फॉर्म भरने के बाद जरूरी दस्तावेजों को संलग्न कर दें।

Palanhar Yojana Online/ Offline Form Apply 2022

यदि आप Palanhar Yojana Rajasthan 2020-21 के पात्र हैं और इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपने  आवेदन फॉर्म को भरने के बाद, शहरी क्षेत्र में विभागीय जिला अधिकारी एवं ग्रामीण क्षेत्र में सम्‍बन्धित विकास अधिकारी के पास जमा कर देवें।

Palanhar Yojana Helpline Number

यदि आपको पालनहार योजना से जुड़ने में किसी भी प्रकार की परेशानी आ रही है तो, इससे संबंधी विस्तृत जानकारी प्राप्त करने हेतु टोल फ्री नंबर उपलब्ध करवाया गया है, जिस पर कॉल कर आप हर जानकारी आसानी से हासिल कर सकते हैं।

Toll Free Number: 1800-180-6127

Palanhar Form Download PDF

राजस्थान पालनहार योजना की फॉर्म पीडीएफ डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें – Download PDF

यह भी पढ़ें: भू नक्शा राजस्थान

Palanhar Yojana Update-

Palanhar Renewal Update- Date: 16/05/2021

योजना से जुड़े परिवार को हर वर्ष सदस्यता हेतु वार्षिक तौर पर नवीनीकरण करवाना अनिवार्य होता है, लेकिन राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा महामारी की वजह से लोगों की सुविधा हेतु वर्ष 2020-2021 वार्षिक नवीनीकरण अनिवार्यता पर छूट दी गई।

1 Comment on “Palanhar Yojana Rajasthan 2020-21 | Online Form Registration 2022 | Annual Renewal

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*