{आवेदन फॉर्म} प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना 2021 क्या है? Online Apply, Download PDF

Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana (PMMSY) in Hindi: केंद्र सरकार ने किसानों की आय को दोगुना करने का लक्ष्य पहले ही निर्धारित किया हुआ है। इसके अलावा सरकार मछली पालकों की आय को दोगुना करने के लिए भी योजना तैयार कर चुकी है। मछली पालन में बड़ी सम्भावना को देखते हुए केंद्र सरकार द्वारा मत्स्य संपदा योजना (PMMSY 2021) को शुरू किया गया। PM Matsya Sampada Yojana के माध्यम से लाखों लोगों को रोजगार मिलेगा और साथ ही आने वाले समय में मछली का एक्सपोर्ट बढ़कर दोगुना हो जाएगा। इस योजना के लिए केंद सरकार ने अब तक का सबसे बड़ा फंड भी आवंटित किया है। मछली पालन करने वाले website के माध्यम से Online आवेदन फॉर्म भरकर योजना का लाभ ले सकते हैं। प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना (पीएमएमएसवाई) क्या है? कैसे registration कर योजना से जुड़ सकते हैं।

आइए इस पोस्ट के माध्यम से प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना की पूर्ण जानकारी के बारे में जानते हैं। अंत में आप योजना से सम्बंधित PDF भी Download कर सकते हैं।

Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana Detail in Hindi

योजना का नामप्रधानमंत्री मतस्य संपदा योजना
केंद्रीय/राजकीय योजनाकेंद्रीय योजना
योजना की शुरुआत10 सितंबर 2020
लाभ मछली पालकों को लोन सुविधा
लाभार्थी मछली के कारोबारी और जलीय कृषि का काम करने वाले लोग
अधिकारिक वेबसाइट (Official website)pmmsy.dof.gov.in

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना क्या है?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार द्वारा वर्ष 2020 में मछली पालकों के लिए मत्स्य संपदा योजना को शुरू किया गया है। भारत के आजाद होने के बाद यह मतस्य पालकों के लिए अब तक की सबसे बड़ी योजना है, इसलिए मोदी सरकार ने इसे ब्ल्यू रेवोल्यूशन नाम दिया है। योजना के लिए केंद्र सरकार द्वारा 20,050 करोड़ रुपये का फंड आवंटित किया गया है। समुद्री यानी जलीय क्षेत्रों से नाता रखने वाले और जलीय कृषि का काम करने वाले योजना के माध्यम से काफी कम ब्याज दर पर लोन ले सकते हैं। किसान क्रेडिट कार्ड को इस योजना से जोड़ा गया है। इसके अलावा समुद्री तूफान, बाढ़, चक्रवात जैसी प्राकृतिक आपदा की वजह से मछुआरों को होने वाले नुकसान की भरपाई भी इस योजना के माध्यम से की जाएगी। Online Application form भरकर योजना का लाभ उठाया जा सकता है।

मत्स्य संपदा योजना का उद्देश्य

देश में मछुआरों के लिए कोई भी बड़ी योजना नहीं चलाई जाती, किसानों की तरह तूफान, बाढ़, चक्रवात से उन्हें भी आर्थिक हानि का सामना करना पड़ता है। इससे उनकी आय कम होती है। मछुआरों के आर्थिक नुकसान की भरपाई और उनकी आय को दोगुना करने के उद्देश्य से केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना को प्रारंभ किया है। साथ ही मछली पालन में संभावनाओं को देखते हुए इसे बढ़ावा देना भी इस योजना का मुख्य उद्देश्य है। आने वाले 4-5 वर्षों में इसकी मदद से अतिरिक्‍त 70 लाख टन मछली का उत्‍पादन किया जाएगा। मछली पालने वाले योजना का लाभ लेकर 3 लाख रुपए तक का लोन बेहद ही कम ब्याज दर के साथ उठा सकते हैं।

प्रधानमंत्री किसान ट्रैक्टर योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

मत्स्य संपदा योजना का लाभ

  • पूरे देश में इस योजना को लागू किया गया है।
  • जलीय क्षेत्रों से नाता रखने वाले मछली के कारोबारी और जलीय कृषि का काम करने वाले लोग योजना की मदद से 3 लाख रुपए तक का लोन ले सकते हैं।
  • मत्स्य संपदा योजना से KCC यानी किसान क्रेडिट कार्ड को भी जोड़ा गया है, इसी के द्वारा कम ब्याज दर पर कर्ज उठाया जा सकता है।
  • किसान क्रेडिट कार्ड धारक 4 फीसदी ब्याज दर पर 3 लाख रुपए तक की धनराशि का लोन ले सकते हैं।
  • यदि वे समय पर अपने लोन का भुगतान कर देते हैं तो उन्हें ब्याज पर भी छूट दी जाती है।
  • किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम से मछली, झींगा मछलियों के पालन के लिए भी कर्ज लिया जा सकता है।
  • पीएमएमएसवाई से करीब 55 लाख लोगों को रोजगार दिया जाएगा।
  • केंद्र सरकार ने योजना के लिए 20,050 करोड़ रुपए का फंड निर्धारित किया है।
  • योजना के अंतर्गत मरीन, इनलैंड फिशरीज और एक्वाकल्चर के लिए 12340 करोड़ रुपए और फिशरीज इन्फ्रास्ट्रक्चर हेतु करीब 7710 करोड़ रुपए का निवेश प्रस्तावित किया गया है।
  • योजना की मदद से मछलियों के उत्पादन में बढ़ोतरी होगी, आने वाले 4-5 वर्षों में अतिरिक्‍त 70 लाख टन मछली का उत्‍पादन हो सकता है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना हेतु पात्रता

  • मछुआरा समुदाय ही इस योजना का लाभ लेने के पात्र होगा।
  • देश के मूलनिवासी ही प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना का लाभ ले सकते हैं।
  • समुद्री यानी जलीय क्षेत्रों से सम्बंधित मछली कारोबारी, जलीय कृषि का कार्य करने वाले इस योजना के पात्र होंगे।
  • जो मत्स्य पालन या जलीय क्षेत्रों में जलीय कृषि सम्बंधित नया कारोबार शुरू करने चाहता है, वह भी इस योजना की पात्रता रखता है।
  • समुद्री तूफान, बाढ़, चक्रवात जैसी प्राकृतिक आपदा के कारण बर्बाद हुए मछुआरों को भी योजना का लाभ दिया जाएगा।

प्रधानमंत्री मतस्य संपदा योजना आवेदन फॉर्म भरने वाले लाभार्थी

  • मछुआरे
  • मत्स्य किसान
  • मछली श्रमिक
  • मछली विक्रेता
  • मत्स्य विकास निगम
  • मछली पालन क्षेत्र में स्वयं सहायता समूह (SHG)/ संयुक्त देयता समूह (JLGs)
  • मछली/ मत्स्य सहकारिता
  • मत्स्य पालन संघ
  • उद्यमी और निजी फर्म
  • मछली किसान उत्पादक संगठन / कंपनियां (FFPOs / Cs)
  • एससी/ एसटी/ महिला/ अलग-अलग विकलांग व्यक्ति
  • राज्य मत्स्य पालन विकास बोर्ड (SFDB)

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना आवेदन फॉर्म

  • पात्र लाभार्थी यदि मत्स्य संपदा योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो नीचे दी गई स्टेप्स का पालन करें।
  • योजना से जुड़ने हेतु आवेदनकर्ता को सर्वप्रथम प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • ऑफिसियल वेबसाईट का होम पेज खुलने के बाद आवेदन करें के बटन पर क्लिक करें।
  • आपके स्क्रीन पर एप्लीकेशन फॉर्म खुल जाएगा, अब इसमें पूछी गई सभी जानकारी जैसे नाम, डेट ऑफ बर्थ, लिंग आदि दर्ज करें।
  • ध्यानपूर्वक आवेदन फॉर्म भरने के बाद आपको सभी जरूरी दस्तावेजों को अपलोड करना होगा।
  • दस्तावेज अपलोड करने के बाद सबमिट बटन पर क्लिक कर दें, इस तरह आपके आवेदन की प्रक्रिया समाप्त हो जाएगी।

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना PDF

इस आर्टिकल में आपको प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना से सम्बंधित हर महत्वपूर्ण जानकारी दे दी गई है। यदि आप इस योजना से जुडी विस्तृत जानकारी पढना चाहते हैं तो नीचे दी गई PDF फ़ाइल को डाउनलोड कर पढ़ सकते हैं। योजना की PDF Download Link नीचे दी गई है, जिस पर क्लिक कर आप आसानी से अपने स्मार्टफोन या कंप्यूटर में इसे डाउनलोड कर सकते हैं।

Important Links

PMMSY Official Website: Click Here

Pradhan Mantri Matsya Sampada Yojana PDF: Click Here to Download PDF

टोल-फ्री हेल्पलाइन नंबर: 1800-425-1660

Kisan Suchna: Jai Jawan, Jai Kisan

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*