Kusum Yojana 2022: कुसुम योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, पात्रता, Full Details in Hindi

Kusum Yojana 2022 – भारत में करीब 70% आबादी किसानों की है, इसलिए हमारे देश को एक कृषि प्रधान देश भी कहा जाता है। देश का अन्नदाता किसान, जो मेहनत कर अपनी जमीन से अलग-अलग प्रकार के अनाज को निकालकर हमारा पेट भरते हैं, लेकिन कई बार फसल बिगड़ने से किसानों का बड़ा नुकसान भी होता है, इसलिए केंद्र सरकार किसानों के हित में नई-नई योजनाओं का आरम्भ करती रहती है। इस आधुनिक युग में सरकार किसानों की मदद करने में पीछे नहीं हट रही है और उन्हें इस युग से जोड़े रखने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। उन्हें नई-नई तकनीकों से जोड़ा जा रहा है, इन तकनीकों के माध्यम से किसान आसानी से खेती कर अपनी फसलों से अच्छा अनाज पैदाकर अधिक लाभ कमा सकता है।  

Kusum Yojana 2021 Full Details in Hindi

कुसुम योजना एक ऐसी ही योजना है, जिसके तहत सरकार किसानों को नई तकनीक से जुड़े यंत्र मुहैया करवाती है। आइए अच्छी तरह से जानते हैं कि प्रधानमंत्री कुसुम योजना किससे सम्बंधित है, किसान इस योजना का लाभ कैसे उठाए, कुसुम योजना सोलर पंप ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें, PM Kusum Yojana 2022 की पात्रता क्या है,  यह योजना कब शुरू हुई थी, कुसुम योजना पंप वितरण स्कीम क्या है।

Kusum Yojana Details in Hindi – Full form, Eligibility, Helpline Number

Yojana NamePM KUSUM Yojana
Full-FormKisan Utthan Suraksha Urja Mahaabhiyan
Lunch DateJuly 2019
Lunch byMinistry of New and Renewable Energy (MNRE) 
CategoryCentral
Official Web Sitehttps://mnre.gov.in/
Helpline Toll-Free Number1800-180-3333 

KUSUM Scheme 2022

कुसुम योजना क्या है और यह यह कब शुरू हुई?

महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्य प्रदेश सहित हर छोटे बड़े राज्य के किसानों के लिए कुसुम योजना यानी किसान ऊर्जा सुरक्षा उत्थान महा अभियान योजना (KUSUM) को तैयार किया गया है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य है किसानों को सिचाई के लिए आत्मनिर्भर बनना। आज भी कई गावों में बिजली की समस्या है, जिसके कारण किसानों को खेतों में सिंचाई अच्छी तरह से नहीं कर पाते। इस योजना के तहत सरकार किसानों तक सोलर पम्प और अन्य नए ऊर्जा संयंत्रों को पहुंचा रही है, जिससे वे खुद बिजली बनाकर उपयोग कर सकते हैं। साथ ही वे बिजली बनाकर इसे बेचकर अपनी आया में इजाफा कर सकते हैं। यानी कम कीमत में सिचाई के साथ किसान अपनी आय में भी वृद्धि कर सकता है।

Saur Krishi Pump Yojana Detail

कुसुम योजना का संचलन नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय (MNRI) द्वारा किया जा रहा है। मार्च 2019 में इसे प्रशासनिक स्वीकृति मिल गई और जुलाई 2019 में इसके दिशानिर्देश को बनाया गया था जिसके बाद वित्तमंत्री अरुण जेटली द्वारा यह योजना हर राज्य के किसानों के लिए लॉन्च की गई। योजना के अनुसार किसानों को सौर पंप सेट दिए जाएंगे। सरकार ने 17.5 लाख सौर पंप सेट वितरित करने का लक्ष्य रखा है। वहीँ जिन जगहों पर बिजली ग्रिड है, वहां किसानों को 10 लाख पंप सेट देने का लक्ष्य निर्धारित किया है। 3 मुख्य भागों में इस योजना को बांटा गया है, जिनके बारे में आगे जानकारी दी गई है।

PM कुसुम योजना के तीन भाग (3 Components)

भाग-A

  • इस भाग के अंतर्गत 10,000 मेगावाट का ग्रिड कनेक्शन स्थापित किया जाएगा।
  • इसमें 500kW से लेकर 2MW सोलर पॉवर प्लेट लगा सकते हैं।
  • जिस जमीन पर सयंत्र सेटअप किया जाएगा वह उप-स्टेशन के 5 किलोमीटर के दायरे में होना चाहिए।
  • किसान, किसानों का समूह, सहकारी समितियां, किसान उत्पादक संगठनों (FPO), पंचायत, जल उपयोगकर्ता संघों (WUA) इस ग्रिड कनेक्शन को स्थापित करवा सकते हैं।
  • इस भाग के लिए आपको किसी भी प्रकार की सब्सिडी नहीं दी जाएगी।

भाग-B

  • जहाँ ग्रिड उपलब्ध नहीं हैं वहां स्टेंड अलोन सोलर सिस्टम स्थापित किया जाएगा और इसमें केंद्र और राज्य सरकार द्वारा सब्सीडी भी दी जाएगी।
  • 30% सब्सिडी केंद्र सरकार द्वारा, 30% सब्सिडी राज्य सरकार द्वारा, 30% लोन व्यवस्था, यानी सिर्फ 10% राशि ही जमा करनी होगी।
  • इसमें 3 एचपी, 5 एचपी और 7.5 एचपी क्षमता वाले पम्पों को ही लगाया जाएगा। 7.5 एचपी से अधिक क्षमता वाले पम्प भी लगवाए जा सकते हैं, लेकिन इसमें आर्थिक सहायता नहीं दी जाएगी।

भाग-C

  • पुराने डीजल पंपों को नए सौर पंपो से बदला जाएगा।
  • सौर उर्जा से बिजली उत्पादित कर किसान अपने कृषि कार्यों को कर सकता है और बाकी बिजली वह अपने क्षेत्र के बिजली विभाग को बेचकर अपनी आय को बढ़ा सकता है।
  • योजना के अंतर्गत 30% सब्सिडी केंद्र सरकार द्वारा वहीँ 30% सब्सिडी राज्य सरकार द्वारा प्रदान की जाती है। 40% लाभार्थी को अपनी तरफ से देने पड़ते हैं, जिसमें से 30% के लिए आसानी से लोन ले सकता है और सिर्फ 10% राशि ही उसे जमा करनी होती है।

कुसुम योजना 2022 का लाभ कैसे उठाएं

देश के जिन-जिन राज्यों में कुसुम योजना को लागू किया गया है, उन राज्यों में आवेदन की प्रक्रिया जारी है। जो किसान इस योजना के लाभार्थी बनना चाहते हैं, वे जरूरी दस्तावेजों के साथ ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। कई किसान प्रधानमंत्री द्वारा शुरू की गई कुसुम सोलर पंप योजना के माध्यम से अपनी आय में वृद्धि करना शुरू कर चुके हैं। यह योजना उन किसानों के लिए बेहद ही लाभदायक साबित हुई, जिनकी जमीन बंजर हो चुकी थी। नई कुसुम योजना की मदद से वे अपनी बंजर जमीन पर सौर उर्जा से बिजली उत्पादन कर अच्छी राशि कमा रहे हैं।

Kusum Yojana Apply Online, Registration form, and Eligibility

कुसुम योजना 2022 पात्रता, ऑनलाइन आवेदन फॉर्म

इस योजना से जुड़ना काफी आसान है, यदि आपके पास ग्रामीण क्षेत्र में आपनी जमीन है और आप भारतीय नागरिक हैं तो आप इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं। यदि आपके पास स्वयं की जमीन नहीं है तो आप गाँव में लीच पर जमीन लेकर भी कुसुम सोलर पंप योजना के लाभार्थी बन सकते हैं। योजना का लाभ लेने हेतु सर्वप्रथम आपको MNRE की ऑफिसियल वेबसाइट पर अपना पंजीकरण करना होगा। इस प्रक्रिया को पूर्ण करने के बाद आप कुसुम योजना का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन फॉर्म भर सकते हैं।

विशेष नोट: कुसुम योजना के आवेदन से जुड़े कई मामले सामने आये हैं, जिनमें झूठी और डुप्लीकेट वेबसाइट पर किसानों का पंजीयन किया जा रहा है और उनसे शुल्क भी जमा करवाया जा रहा है। इसलिए सतर्क रहे और ऐसी ऐसी वेबसाइट पर अपनी जानकारी साझा न करें। Ministry of new and Renewal energy की अधिकारिक वेब साईट द्वारा भी इन वेबसाइट से बचने के निर्देश दिए हैं। अच्छी तरह से जांचकर अधिकारिक वेबसाइट से ही आवेदन करें, आप अपनी नजदीकी वितरण कंपनियों या राज्य अक्षय ऊर्जा नोडल एजेंसियों के माध्यम से भी अधिक जानकारी एकत्रित कर सकते हैं।

Kusum Yojana 2022 Documents

पीएम कुसुम सोलर पंप योजना के लिए दस्तावेज

-मूलनिवासी प्रमाण-पत्र

-आधार कार्ड

-स्थानीय पता

-जिस जमीन पर योजना का लाभ उठाना चाहते उस भूमि से जुड़े दस्तावेज जैसे खसरा-खतौनी

-घोषणा पत्र

-बैंक अकाउंट की जानकारी – जिस भी बैंक खाते की जानकारी आप देंगे, उसी बैंक खाते में सब्सिडी की राशि दी जाएगी।

-मोबाइल नंबर

-पासपोर्ट साइज़ फोटो

कुसुम योजना 2022 ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

जैसा कि आपको बताया की यह योजना तीन भागों में विभाजित की गयी है, धीरे-धीरे सरकार इन तीनों भागों को सभी राज्यों में शुरू कर रही है और हर भाग में आवेदन के लिए अलग-अलग विभाग दिए गए हैं। किसान की सुविधा को देखते हुए इसके लिए सरल आवेदन प्रक्रिया को जोड़ा गया है, जिससे किसान को अधिक परेशानी न उठानी पड़े। ऑनलाइन आवेदन करने हेतु लाभार्थी को पीएम कुसुम योजना से जुड़ी अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। यहां अपनी जानकारी जैसे आधार कार्ड, प्रॉपर्टी के दस्तावेज और बैंक खाते की जानकारी आपको भरना होगा। जैसे यदि आप उत्तरप्रदेश में रहते हैं तो इस योजना का लाभ लेने के लिए आपको सर्वप्रथम राज्य की अधिकारिक कृषि विभाग की वेबसाइट पर ऑनलाइन पंजीयन द्वारा इस योजना की मांग करनी होगी।

आप योजना के A, B, और C में से जिस भी भाग के लिए आवेदन करना चाहते हैं उसके अनुसार तय विभाग से संपर्क करें। जैसे अगर आप भाग-A के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आपको अपने क्षेत्र के DISCOM यानी बिजली देने वाली कंपनी से संपर्क करना होगा। वहीँ B और C के लिए अन्य विभाग राज्य सरकार द्वारा तय किये गए हैं।

PM Kusum Yojana Budget Detail

बजट 2018-19 के दौरान कुसुम योजना की घोषणा की गई थी। वर्ष 2019 में केबिनेट द्वारा इसे मंजूरी दी गयी थी। इस योजना के लिए सरकार ने 34,422 करोड़ रुपए का बजट आवंटित किया था। निर्धारित बजट के अनुसार कुसुम योजना पर कुल 1.40 लाख करोड़ रुपए की लागत आएगी, केंद्र सरकार द्वारा पूरे खर्च में से 48 हजार करोड़ रुपए की सहायता करेगी, जबकि इतनी ही राशि की सहायता राज्य सरकार देगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*