विजयाराजे जननी कल्याण बीमा योजना: महिला प्रसव से जुडी इस योजना के लाभ एवं उद्देश्य

Vijayaraje Janani Kalyan Yojana: गर्भवती महिलाओं के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकारों द्वारा सुरक्षा और आर्थिक सहायता हेतु कई योजनाएं (Garbhvati Mahila Yojana) सक्रिय हैं। योजनाओं द्वारा दिए जाने वाले लाभ और उद्देश्य के बारे में कम ही लोगों को जानकारी होती है, जिस वजह से लोग इन योजनाओं के लाभार्थी बनने की पात्रता रखने के बावजूद भी इनका लाभ नहीं ले पाते। महिला के सफल और सुरक्षित प्रसव को लेकर मध्यप्रदेश सरकार द्वारा विजयाराजे जननी कल्याण बीमा योजना को चलाया जाता है। विजयाराजे जननी कल्याण बीमा योजना क्या है, इसके अंतर्गत महिला को कितनी राशि दी जाती है। आइए इस योजना से जुड़े लाभ, उद्देश्य, पात्रता को जानते हैं।

Contents-

Vijayaraje Janani Kalyan Yojana Detail in Hindi | Garvwati Mahila Yojna | Objectives | Benefits | Eligibility |

MP Vijayaraje Janani Kalyan Yojana 2021 Detail in Hindi

योजना का नामविजयाराजे जननी कल्याण बीमा योजना
राज्यमध्य प्रदेश
शुरुआत12 मई 2006
लाभप्रसव के दौरान चिकित्सीय व्यय की प्रतिपूर्ति
लाभार्थी गरीब वर्ग से आने वाली गर्भवती महिला
अधिकारिक वेबसाइट (Official website)mponline.gov.in

विजयाराजे जननी कल्याण बीमा योजना क्या है?

Vijayaraje Janani Kalyan Yojana: मध्यप्रदेश की सरकार ने विजयाराजे जननी कल्याण बीमा योजना का आरम्भ 12 मई 2006 में किया था। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, मध्यप्रदेश द्वारा इस योजना का संचालन किया जाता है। प्रदेश में प्रसव के दौरान महिला मृत्यु दर को कम करने और संस्थगत प्रसव को बढ़ावा देने के लिए इस स्कीम को प्रारम्भ किया गया था। चिकित्सा संस्थानों में सफल प्रसव के बाद महिला को निर्धारित राशि दी जाती है। वहीँ प्रसव के दौरान महिला की मृत्यु हो जाने की स्थिति में भी आर्थिक राशि निर्धारित की गई है।

विजयाराजे जननी कल्याण बीमा योजना का उद्देश्य

मध्यप्रदेश में कई महिला अब भी अपने घरों में ही बच्चे को जन्म दे देती हैं, कई बार प्रसव के दौरान महिला या शिशु की मृत्यु हो जाती है। प्रदेश में महिला और शिशु की मृत्यु दर लगातार बढ़ती जा रही थी, जिसे कम करने की जिम्मेदारी सरकार ने ली। विजयाराजे जननी कल्याण बीमा योजना का मुख्य उद्देश्य प्रसव के दौरान मृत्यु दर को कम करना और संस्थगत प्रसव को बढ़ावा देना है।

विजयाराजे जननी कल्याण बीमा योजना के लाभ

  • प्रदेश में निवास करने वाले सभी BPL परिवार विजयाराजे जननी कल्याण बीमा योजना से जुड़ सकते हैं।  
  • योजना के अंतर्गत गर्भवती महिलाओं के जनन के समय चिकित्सीय खर्च की प्रतिपूर्ति के रूप में 1 हजार रुपए दिए जाते हैं।
  • प्रसव के दौरान यदि गर्भवती महिला प्रसव से पूर्व, प्रसव के दौरान अस्पताल में, प्रसव के बाद आने वाली कठिनाई जैसे खून की कमी, रक्तस्त्राव आदि कारणों से प्रसव के 42 दिनों के अंदर मृत्यु होने की स्थिति में उसके उत्तराधिकारी को नामित राशि के रूप में 50,000 की राशि दी जाती है।
  • यदि महिला का प्रसव किसी निजी अस्पताल में होता है तो उस परिस्थिति में इस बीमा योजना का लाभ उन्हीं अस्पतालों के माध्यम से दिया जा सकेगा जो स्थानीय स्तर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी से संबद्धता प्राप्त हैं।

विजयाराजे जननी कल्याण बीमा योजना की पात्रता

  • योजना का लाभ लेने वाली महिला BPL परिवार के अंतर्गत आनी चाहिए।
  • योजना के पहले तीन महीने गर्भवती महिला को प्रसव पूर्व जाँच का प्रमाण देने की आवश्यकता नहीं होगी।
  • अगले तीन माह योजना का लाभ कम से कम एक प्रसव पूर्व जाँच का प्रमाण दिखाने पर ही दिया जाएगा।
  • 6 माह के बाद योजना का लाभ तभी दिए जाएगा जब महिला द्वारा 3 पूर्व प्रसव जांच करवाई गई हो और प्रसव अस्पताल में संपन्न हुआ हो।
  • प्रसव के दौरान महिला की मृत्यु होने पर उत्तराधिकारी को नामित राशि के रूप में 50,000 की राशि दी जाती है, लेकिन यदि गर्भवती महिला की मृत्यु किसी अन्य बीमारी या किसी दुर्घटना में होती है तो उसे इस योजना के तहत किसी भी प्रकार का लाभ नहीं दिया जाएगा।

Vijayaraje Janani Kalyan Yojana PDF Download

विजयाराजे जननी कल्याण बीमा योजना की अधिक जानकारी पाने के लिए पीडीएफ फ़ाइल डाउनलोड करें- Download PDF

1 Comment on “विजयाराजे जननी कल्याण बीमा योजना: महिला प्रसव से जुडी इस योजना के लाभ एवं उद्देश्य

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*