Jharkhand Gyanodya Yojana: ज्ञानोदय योजना क्या है, शिक्षकों को Free Tablet का वितरण

Jharkhand Gyanodya Yojana 2022/ Teachers Free Tablet Yojana: शिक्षक बच्चों को अच्छी शिक्षा देने व उनके भविष्य को उज्जवल बनाने में अहम भूमिका निभाते हैं। इसलिए स्कूल में अच्छे शिक्षक का होना बेहद जरूरी है। पहले के समय में बच्चों के लिए सीमित विषय हुआ करते थे, लेकिन बदलते वक़्त के साथ कई नए विषय पाठ्यक्रम में शामिल किए गए हैं। शिक्षक, जिन्हें इन विषयों के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं हैं वे स्मार्टफोन व इंटरनेट की मदद से इन विषयों को समझ सकते हैं, लेकिन सभी शिक्षकों के पास स्मार्टफोन व इंटरनेट की सुविधा नहीं होती। ऐसे में झारखंड सरकार ने राज्य के शिक्षकों को मुफ्त टैबलेट वितरित करने के लिए योजना तैयार की है। इस योजना का नाम ज्ञानोदय योजना (Gyanodya Yojana) है। आइए झारखंड की इस योजना (Teachers Free Tablet Yojana) से सम्बंधित लाभ, पात्रता, ऑनलाइन आवेदन/पंजीकरण (Registration) समेत अन्य महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में जानते हैं।

Jharkhand Gyanodya Yojana 2022 Details in Hindi

योजना का नामज्ञानोदय योजना
राज्यझारखंड
घोषणा——
लाभशिक्षकों को फ्री लैपटॉप
लाभार्थी शिक्षक
अधिकारिक वेबसाइट (Official website)जानकारी नहीं है

ज्ञानोदय योजना क्या है? (Gyanodya Yojana) 

झारखंड सरकार के द्वारा ख़ास शिक्षकों के लिए ज्ञानोदय योजना को शुरू किया गया। योजना की मदद से राज्य सरकार लाभार्थी सूची में शामिल शिक्षकों को फ्री में टैबलेट वितरित करेगी। ज्ञानोदय योजना के माध्यम से राज्य के कुल 42 हजार स्कूलों के शिक्षकों को मुफ्त टैबलेट का लाभ दिया जाएगा। झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद नोडल एजेंसी के रूप में कार्य करेगी। फ्री टैबलेट हासिल कर शिक्षक खुद को पहले से बेहतर बना पाएंगे। इसकी मदद से वे कही से भी जरूरी कार्य को ऑनलाइन माध्यम से कर पाएंगे। साथ ही इससे वे बच्चों के लिए पढ़ाई सम्बंधित बेहतर सामग्री भी एकत्रित कर पाएंगे।

Free Tablet Yojana For Jharkhand Teachers

Read Also:

Jharkhand Guruji Credit Card Yojana 

होम बिजनेस आईडिया: बेहद कम लगत में लिफाफे बनाने का बिजनेस करें शुरू, जानें कीमत व कमाई

PMFBY Registration: प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

Gyanodya Yojana- उद्देश्य

बदलते वक़्त के साथ हर चीज आधुनिक होती जा रही है। छात्रों के बीच स्मार्टफ़ोन व टैबलेट का इस्तेमाल बढ़ रहा है। ऐसे में शिक्षकों को भी आधुनिक तौर-तरीकों से काम करना व बच्चों को पढ़ाना सीखना होगा। शिक्षकों एडवांस बनाने के उद्देश्य से झारखंड सरकार ने Gyanodya Yojana को प्रारंभ किया है। योजना के अंतर्गत शिक्षा विभाग द्वारा ऑनलाइन सॉफ्टवेयर भी तैयार किया जाएगा, जिसकी मदद से ऑनलाइन माध्यम से शिक्षकों, बच्चों की उपस्थिति, ड्रॉप आउट, मध्याह्न भोजन आदि की निगरानी रखी जाएगी।

Jharkhand Gyanodya Yojana – लाभ

  • Gyanodya Yojana की मदद से राज्य के शिक्षकों को मुफ्त टैबलेट दिए जाएंगे।
  • राज्य सरकार द्वारा दिए गए टेबलेट में मुफ्त इंटरनेट की सुविधा भी दी जाएगी।
  • इस टैबलेट की मदद से शिक्षक शिक्षण सामग्री एकत्रित करने समेत अन्य कार्यों को भी आसानी से कर पाएंगे।
  • शिक्षा विभाग द्वारा ऑनलाइन सॉफ्टवेयर भी तैयार किया जाएगा, जिसका इस्तेमाल टैबलेट में ऑनलाइन माध्यम से शिक्षकों, बच्चों की उपस्थिति, ड्रॉप आउट, मध्याह्न भोजन आदि की निगरानी करने के लिए किया जाएगा।
  • टैबलेट की मदद से शिक्षक छात्रों को बेहतर तरीके से पढ़ा पाएंगे।
  • शिक्षकों के पास डिजिटल नोट्स उपलब्ध रहेंगे और उन्हें हर समय किताब से पढ़ाने की आवश्यकता नहीं रहेगी।
  • योजना की मदद से स्कूल के शिक्षण स्तर में सुधार आएगा, साथ ही स्कूलों का डिजिटलीकरण भी होगा।
  • यह योजना छात्रों और शिक्षकों को एक दूसरे से जोड़ने का कार्य भी करेगी।
  • शिक्षकों के लिए स्कूल प्रबंधन और शिक्षा विभाग ऑनलाइन शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रम संचालित करने की भी योजना बनाई गई है।

Jharkhand Gyanodya Yojana Online Registration

शिक्षक फ्री टैबलेट योजना का लाभ लेने के लिए शिक्षकों को किसी भी प्रकार का ऑनलाइन आवेदन या पंजीकरण करने की आवश्यकता नहीं है। राज्य सरकार द्वारा निर्धारित स्कूल में बिना किसी रजिस्ट्रेशन के ही शिक्षकों को फ्री टैबलेट का वितरण कर दिया जावेगा। झारखंड सरकार के द्वारा ज्ञानोदय योजना (Gyanodya Yojana) को मंजूरी दे दी गई है। राज्य सरकार के द्वारा खास इस योजना के लिए 63 करोड़ 60 लाख रुपये का बजट निर्धारित किया गया है। Jharkhand Free Tablet and Internet Yojana राज्य के शिक्षकों को अच्छा शिक्षण देने के लिए प्रोत्साहित करेगी व उन्हें सशक्त बनाएगी। टैबलेट की मदद से शिक्षक, छात्रों को नई चीजें आसानी से सिखा पाएंगे। इसके अलावा शिक्षण अन्य ऑनलाइन स्रोतों से भी कुछ नया सीखते रहेंगे।

ज्ञानोदय योजना के अंतर्पुगत स्तकालय निर्माण

ज्ञानोदय योजना की मदद से राजकीय प्रारंभिक विद्यालयों में पुस्कालय निर्माण भी किया जाएगा, जिसके लिए 10 करोड़ 35 लाख रूपए को भी स्वीकृति दी गई है। योजना की मदद से ही छात्रों के लिए  रीडिंग कैंपेन चलाया जाएगा और विद्यार्थियों में पढ़ने की आदत को विकसित किया जाएगा। राज्य सरकार ने योजना के तहत 1000 स्कूल में पुस्तकालय निर्माण का लक्ष्य रखा है। वहीँ जिन स्कूलों के पुस्तकालय जर्जर हो चुके हैं, उनकी मरम्मत का कार्य भी ज्ञानोदय योजना के अंतर्गत किया जावेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*