Bihar Badh Rahat Sahayata Yojana: मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष बिहार से बाढ़ पीढित पाएं 6000 का मुआवजा

Bihar Badh Rahat Sahayata Yojana 2022: देश के कई राज्यों में बाढ़ की वजह से लोगों का जन जीवन अस्त व्यस्त हो जाता है। ऐसा ही एक राज्य बिहार भी है, जहाँ बारिश की वजह से हर वर्ष बाढ़ से जान-माल की हनी होती है। बिहार की कोशी नदी की वजह हर वर्ष राज्य के कुछ हिस्से बाढ़ की वजह से प्रभावित होते हैं। इसी वजह से इस नदी को बिहार का शोक भी कहा जाता है। बाढ़ से होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए बिहार सरकार बिहार बाढ़ राहत सहायता योजना चलाती है। इस योजना की मदद से बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के लोगों आर्थिक मदद दी जाती है। आइए आपको बिहार बाढ़ राहत सहायता योजना से जुडी जरूरी जानकारी जैसे ऑनलाइन आवेदन (Online Apply) , पात्रता, दस्तावेज, मुआवजा राशि, बाढ़ बाढ़ राहत लाभार्थी सूची कैसे बनाई जाती है आदि से सम्बंधित जानकारी देने वाले हैं।

Bihar Badh Rahat Sahayata Yojana 2022 Details in Hindi

योजना का नामबिहार बाढ़ राहत सहायता योजना
राज्यबिहार
योजना की घोषणा———
लाभआर्थिक मदद
लाभार्थी बाढ़ पीड़ित
अधिकारिक वेबसाइट (Official website)———
Bihar Badh Rahat Sahayata Yojana list detail in hindi

बिहार बाढ़ राहत सहायता योजना क्या है? (Bihar Badh Rahat Sahayata Yojana 2022)

बिहार बाढ़ सहायता योजना को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा शुरू किया गया था। योजना की मदद से बाढ़ प्रभावित लोगों को आर्थिक मदद दी जाती है। बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में रहने वाले परिवारों को इस योजना के माध्यम से 6000 रुपए की राशि दी जाती है। वहीँ जिस परिवार की फसल, घर, पशु या अन्य कोई बड़ी क्षति हुई हो तो, उसके अनुसार बाढ़ पीढित परिवार को नुकसान की भरपाई की जाती है। मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष बिहार में से यह मुआवजा राशि पीड़ितों को दी जाती है। योजना से जुड़ने वाले परिवार को सीधा डीबीटी के माध्यम से मुआवजा राशि बैंक खाते में ट्रांसफर कर दी जाती है। योजना के अंतर्गत बिहार के उन्ही जिलों को शामिल किया गया है, जो बाढ़ प्रभावित होते हैं। बिहार के बढ़ प्रभावित जिले पूर्वी और पश्चिमी चंपारण, सीतामढ़ी, शिवहर, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, खगड़िया के निवासियों के लिए Bihar Badh Rahat Sahayata Yojana बेहद लाभकारी साबित हुई है।

Bihar Badh Rahat Sahayata Yojana – उद्देश्य

हर वर्ष बिहार राज्य में भरी बारिश की वजह से नदिया उफान पर आ जाती है, जिस वजह से आस-पास के गांवों में रहने वाले लोगों का जीवन अस्त-व्यस्त हो जाता है। इस दौरान उन्हें अपनी आजीविका चलाने में भी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। इसे ध्यान में रखते हुए बिहार सरकार ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के परिवारों के लिए बिहार बाढ़ राहत सहायता योजना को प्रारंभ किया। योजना की मदद से मिलने वाली 6000 रुपए की राशि बाढ़ पीड़ितों को अपनी आजीविका चलाने में मदद करेगी। यदि बाढ़ की वजह से जान-माल की हानि या अन्य बड़ा नुकसान होता है तो इसके लिए बिहार बाढ़ राहत सहायता योजना के अंतर्गत अलग से राशि निर्धारित की जाती है।

बिहार बाढ़ राहत सहायता योजना का लाभ

  • Bihar Badh Rahat Sahayata Yojana 2022 योजना की मदद से बाढ़ पीड़ितों को मुआवजा प्रदान किया जाता है।
  • बाढ़ प्रभावित परिवारों को मुआवजे के रूप में 6000 रुपए की राशि दी जाती है।
  • जिन लोगों के घर, पशु, फसलें बाढ़ के कारण बर्बाद हुई हैं उन्हें बिहार बाढ़ योजना की मदद से अन्य निर्धारित राशि दी जाती है।
  • योजना के तहत बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के सरकारी सर्वे के बाद लाभार्थी परिवारों की सूची तैयार कर उन्हें मुआवजा दिया जाता है।

किस स्थिति में कितनी मुआवजा राशि देगी बिहार सरकार

  • बाढ़ से प्रभावित परिवारों को ₹6000 की राशि का मुआवजा दिया जाएगा।
  • बाढ़ की वजह से बर्तन के नुकसान पर 2000 व कपड़ों के नुकसान पर 1800 रुपए का मुआवजा दिया जाएगा।
  • फसल बर्बाद होने की स्थिति में प्रति हेक्टेयर के हिसाब से ₹6800 की राशि मुआवजे के रूप में प्रदान की जाएगी।
  • पालतू जानवर जैसे गाय, भैंस, बकरी, सूअर, भेड़, घोड़े आदि की क्षति के लिए भी राशि निर्धारी की गई है।
  • प्रति गाय या भैंस नुकसान होने पर ₹30,000 व घोड़े की नुकसान पर ₹25,000 की राशि दी जाएगी।
  • प्रति बकरी, सूअर, भेड़ आदि  का नुकसान होने पर ₹3000 की राशि दी जाएगी।
  • यदि 50 मुर्गी का नुकसान हुआ है तो उसको अधिकतम ₹5000 की राशि दी जाएगी।
  • पक्के व कच्चे मकान नष्ट होने पर 95,100 रुपए की राशि प्रदान की जाएगी।
  • कच्चे  मकान के आंशिक क्षति ग्रस्त होने पर 3200 रुपए की राशि दी जाएगी।
  • पक्के मकान के आंशिक क्षति ग्रस्त होने पर 5200 रुपए की राशि दी जाएगी।
  • पूरी झोपड़ी के नुकसान होने पर  ₹4100  की राशि दी जाएगी।
  • जानवर के शेड का नुकसान होने पर ₹2100  की राशि दी जाएगी।

Bihar Badh Rahat Sahayata Yojana 2022- दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक अकाउंट विवरण
  • उम्मीदवार का विवरण

Badh Rahat Sahayata Yojana 2022 Online Apply

ध्यान रहे सिर्फ बिहार के निर्धारित बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के परिवार ही बिहार बाढ़ राहत योजना का लाभ लेने के पात्र होंगे। इस योजना के माध्यम से मुआवजा पाने के लिए पीड़ित को किसी भी प्रकार का ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है। योजना के अंतर्गत बाढ़ पीड़ितों की पहचान कर उनका नाम सूची में शामिल किया जाएगा, इसके बाद उन्हें मुआवजे की राशि दी जाएगी। सत्यापन हेतु नाम, बैंक खाते की जानकारी, परिवार के सदस्यों की संख्या समेत अन्य जानकारी मुआवजा लेने वाले पीड़ित को देनी होगी। इस प्रक्रिया के बाद मुआवजा राशि को आपके खाते में ट्रांसफर कर दिया जावेगा।

बाढ़ राहत लाभार्थी सूची बिहार

राज्य सरकार के द्वारा बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का सर्वे किया जाता है। इसके बाद नुक्सान क्र अनुसार सूची तैयार की जाती है। बाढ़ राहत सहायता योजना के लिए लाभार्थी सूची को लेखपाल तैयार करता है। सर्वे के लिए गाँव गाँव जाकर शिविर लगाये जाते हैं। लाभार्थी सूची तैयार हो जाने के बाद मुआवजा राशि को बाढ़ पीड़ित परिवार के मुखिया के बैंक खाते में ऑनलाइन माध्यम से ट्रांसफर कर दिया जाता है। यदि आप इस सूची में अपना नाम देखना चाहते हैं तो अपने क्षेत्र के लेखपाल के पास जाकर इसमें अपना नाम देख सकते हैं।

Jai Jawan, Jai Kisan

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*